भाषण-प्रधान प्रधानमंत्री

भारत की राजनीति का नक्शा कुछ इस ही तरह का है। जब भी कोई युवा/युवती या स्कूली छात्र/छात्रा अपने स्कूल या अपने विश्वविद्यालय में एक अच्छा भाषण देता/देती है तो लोग यह कहकर उसकी सराहना करते हैं कि “एक अच्छा नेता बनने के गुण हैं तुम में” हम ये मान बैठे हैं कि अच्छा बोलने वाला ही अच्छा नेता हो सकता है और इसी सोच के चलते 2014 में हमने हमारे वर्तमान प्रधानमंत्री को देश की बागडोर सौंप दी थी।

Scroll to Top